Followers

Total Pageviews

Friday, June 30, 2017

खुद को ...

मैं उतना ही गढ़ पाती हूँ खुद को
जितना तुम पढ़ पाते हो मुझको

*नीलम*

No comments:

Post a Comment